Best Health tips in hindi : स्वस्थ जीवन के 5 नियम

Best health tips in Hindi : यदि शरीर की रोग प्रतिरोधंक क्षमता कम हो जाये, तो विभिन्न प्रकार के रोग हमें घेर लेते है. निरोगी जीवन जीने के लिए शरीर की इम्युनिटी का मजबूत होना बहुत जरुरी है. योगाभ्यास और प्राणायाम जहाँ शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते है ही.

वहीँ उचित और संतुलित आहार भी इम्युनिटी को बढ़ने में सहायक है. हम आज के इस हेल्तोथ ब्लॉग में हम Best Health tips in hindi के बारे में जानेगे जिनको कर के हम अपनी immune क्षमता को बढ़ा सकते है.

 

1. भोजन करने के बाद फल ना खाए :

आम तौर पर लोग भोजन करने के बाद फल खाते है जो एक गलत आदत है क्यूँकि फल प्रकृति द्वारा पहले से ही पचे होते है और फलों को पचाने के लिए ज्यादा उर्जा की जरुरत नहीं होती. जबकि भोजन को पचाने में 3-4 घंटे लगते है. यदि हम भोजन करने के बाद फल खाते है तो फल जल्दी हजम हो जाता है और देर में पचने वाला भोजन प्रभावित होने लगता है. जो पहले खाया है उसे पहले पचना चाहिए. इसलिए फलो का सेवन भोजन करने से पहले करना चाहिए. इस health tips को अपनाये.

2. खाना खाते समय पानी ना पिए :

हम इस बात को बहुत अच्छे से जानते हैं की खाना खाते समय पानी नहीं पीना चाहिए. क्यूंकि जब भोजन हमारे मुह में होता है तो हमारी जबान खाने की गुणवत्ता को पहचान लेता है और उपयुक्त पाचक अम्ल हमारे पेट में रिसने लगते है ऐसे में हम भोजन के साथ पानी पीते है तो इन पाचक अम्लों की क्षमता हलकी हो जाती है और भोजन के पाचन में बाधा आती है. इसलिए हमें कभी भी भोजन करते समय पानी नहीं पीना चाहिए.

3. रात्रि का भोजन सोने से 3 घंटे पूर्व  करे :

रात का भोजन हमेशा सोने से 3 घंटे के पूर्व करना चाहिए क्यूंकि हमारा शरीर रात में सोते समय लाखों कोशिकाओं के पुनः निर्माण और पुनर्जीवन में लगा रहता है ऐसे में यदि हम खाना खा के तुरंत सोने के लिए चले जायेंगे तो हमारा शरीर कोशिकाओं के निर्माण के जगह भोजन को पचाने में ही अपनी उर्जा को खर्च कर देगा जिससे हमारी health पे नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. यदि संभव हो तो रात को सोने से पूर्व 1 गिलास गुनगुना पानी पीना चाहिए इससे भोजन और भी जल्दी पचता है.

4. उपयुक्त मात्रा में पानी पिए :

हमारे शरीर में 70% मात्रा पानी की है इसलिए कम से कम 4-5 लीटर पानी प्रतिदिन पीना चाहिए. उपयुक्त मात्रा में पानी पीने से कब्ज (constipation) नहीं होता है. पानी कभी भी RO का नहीं पीना चाहिए क्यूंकि पानी को रिवर्स ऑस्मोसिस द्वारा फ़िल्टर करने से पानी के सरे खनिज निकाल जाते है और पानी मृत हो जाता है इसलिए uv उपचारित पानी पीना चाहिए.

5. कच्चे भोजन की मात्रा बढ़ाएं :

कच्चे भोजन से तात्पर्य है अंकुरित अनाज, कच्ची सब्जियां जैसे गाजर मुली, खीरा, शकरकंद या और भी सब्जियां जो आपको स्वादिष्ट लगे उनसे है. भोजन को पकाने से भोजन का पोषण चला जाता है और फाइटो केमिकल्स विषैले केमेकल्स में बदल जाते है. इसलिए अधिक से अधिक कच्चा भोजन करने की आदत डाले.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *